You are here
Home > फिल्म समीक्षा > रिव्यु – Jagga Jasoos : बच्चो का पैकेज

रिव्यु – Jagga Jasoos : बच्चो का पैकेज

Jagga Jasoos Review by Mudit Bansal

इस हफ्ते सिल्वर स्क्रीन पर दस्तक दी है रणबीर कपूर एवं कैटरीना अभिनीत जग्गा जासूस ने, फिल्म का निर्देशन किया है अनुराग बासु ने , फिल्म को पूरा बनकर तैयार होने में तक़रीबन 3 साल से भी ज्यादा का समय लगा है एवं इसको 1800 स्क्रीन पर रिलीज किया गया है जिस कारण फिल्म से अच्छा बिजनेस की उम्मीद जतायी जा रही है क्योकि फिल्म जग्गा जासूस के सामने केवल रवीना टंडन की शब् फिल्म ही है लेकिन फिल्म को पिछले हफ्ते रिलीज हुई फिल्म श्रीदेवी की मॉम और हॉलीवुड फिल्म स्पाइडर मैन होम कमिंग से कड़ी टक्कर मिलने की आशंका भी जताई जा रही है ।
फिल्म की कहानी है एक व्यस्क जासूस जग्गा की जो कि हाई स्कूल में पढता है और उसके पापा बचपन में ही उसे स्कूल में छोड़कर चले जाते है और आने का वादा करते है लेकिन कभी लौट कर नहीं आते ,ऐसे में जग्गा अपने पापा की तलाश में पत्रकार  श्रुति यानी कैटरीना कैफ के साथ में एक सफर पर निकलता है इसी बीच उसे पता चलता  है कि उसके पिता अब इस दुनिया में नहीं है जग्गा के पिता की मौत किन कारणों से हुई है कहानी में एक के बाद एक ट्विस्ट आते है वही फिल्म में जग्गा अपने स्कूल की एक लड़की की मर्डर मिस्ट्री को भी सुलझाता हुआ नजर आता है ,क्या जग्गा अपने इस सफर में कामयाब होता है ? क्या भटकते हुए इन दोनों को पूरा सच मिल पाता है?  इसको जानने के लिये आपको सिल्वर स्क्रीन का रूख करना होगा ।

Jagga Jassos.jpgइंटरवल के बाद फिल्म थोड़ी खीची खीची सी नजर आती है पर रणबीर कपूर का अभिनय दर्शकों को बांधे रखता है
जैसा कि फिल्म बर्फी में रणबीर ने एक गूंगे बेहरे व्यक्ति की भूमिका निभाई थी  वैसे ही इस फिल्म में रणबीर ने एक हकलाने वाले लड़के की भूमिका निभाई है जो कि अपनी बात गाने के माध्यम से करता है जो की एक दिलचस्प किरदार लिखा गया है पर कभी कभी कुछ जगह बोरियत भी करा देता है। वही सौरभ शुक्ला के अभिनय और उनकी कॉमिक टाइमिंग के तो सभी कायल है इस बार तो उन्होंने उम्मीद से ज्यादा अचंभित किया है वही कैटरीना कैफ ने अपनी ग्लैमरस अदाओं से फिर से प्रभावित किया है फिल्म में विजुअल्स एवं दार्जलिंग से लेकर मोरक्को तक की  सिनेमेट्रोग्राफी काफी सराहनीय है खासकर बच्चे इस दुनिया में जाना जरूर पसंद करेंगे । म्यूजिक फिल्म का सेमी हिट हुआ है पर कोई भी सांग चार्टबस्टर नही गया है , सांग दिल उल्लू का पट्ठा है जैसे लिरिक्स को बच्चो से लेकर एक सिंगल स्क्रीन ऑडियंस के लोगो तक ने पसंद किया है ,फिल्म में अधिकतर गाने अरिजीत सिंह ने ही गाये है जो की कुछ दिन के मेहमान ही नजर आ रहे है । बर्फी से अपनी काबिलियत जता चुके अनुराग बसु ने इस बार भी जबरदस्त निर्देशन किया है , ब्रेक अप के बाद रणबीर कैट की केमिस्ट्री को उन्होंने बड़ी ख़ूबसूरती से स्क्रीन पर उतारा है । कुल मिलाकर यह एक बच्चो का पैकेज कही जाने वाली रोचक फिल्म है जिसे फैमिली के साथ देख सकते है पर श्रावण माह में आस्था के प्रति शिव भक्तों का हरिद्वार की ओर रूख करना इस फिल्म के बिजनेस पर प्रभाव डाल सकता है , मैं इस फिल्म को पांच में से तीन स्टार देता हूँ।

 

Mudit Bansal
Engineer By Education| Lyricist | Critic| Author | Art in Heart |
Top